इस दीवाली मिट्टी के दीयों से करे घर को रोशन, चाइनीज लाईटिंग को करे बाय बाय

क्या आप चाहते है की हमारे देश से चाइना का सभी समान का विरोध करना चाहिए ? सभी को इसका बहिस्कार कर देना चाहिए ? आप अपनी राय कमेंट करके जरूर बताये. दीवाली Special.

इस आर्टिकल को सभी सोशल वेबसाइट व्हाट्सएप्प , फेसबुक , ट्विटर के जरिये हर हिंदुस्तानी तक पहुँचाने में हमारी मदद करे.

दीपावाली का मतलब ही दीपो का त्यौहार होता है । बिना दीप के इस पर्व की कल्पना नहीं की जा सकती। दीपावली दिन सभी घर दियो की जगमगाहट से प्रकाशित हो जाते है. प्रकाशित दिया उजाले का , शान्ति का, प्रगति का प्रतिक माना जाता है.

मिट्टी के दीयों से करे घर को रोशन :

एक दिन था जब हमारे देश में मिट्टी के दिए जलाये जाते थे. इससे देश के उन गरीब परिवारों का जीवन निर्वाह चलता था. हमारे घरमे मिटटी के दिए जलने से ही हजारो गरीब परिवार के घर में दिया जल पाता है.

लेकिन अब ये परपंरा महज औपचारिता में दायरे में सिमटती जा रही है। वजह साफ है चाईनीज लाईटिंग और मोम की तड़क-भड़क। इस तड़क भड़क और चाइनीज लाईटिंग ने दीपावली के लिए दीए बनाने वाले समाज के अस्तित्व पर संकट खडा कर दिया है ।

: चाइना माल की हकीकत जानो :

१. सबसे ज्यादा विस्फोट चीनी मोबाइलों मे हो रहे हैं|
२.चाइनीज पटाखों की जहरीली गंध व धुंआ से दमा..अस्थमा..व टी.बी का खतरा बढा
३.चाइनीज खिलोनों से एलर्जी व कैसंर की बीमारी हो सकती हैं
सस्ता है पर बीमारी का घर है

आज कल सोशल मीडिया में चाइना के माल सामान का विरोध चल रहा है. इसका परिणाम भी एक – दो हप्तो में चाइना को मिल गया है. चाइना के व्यापार में ३०-४०% की गिरावट आ गयी है.

चीन ने समय-समय पर भारत विरोधी फैसले लिए हैं और यह सिद्ध किया है कि वो पाकिस्तान का हिमायती और भारत का विरोधी है। भारत विरोधी फैसलों के विरोध में आज विभिन्न संगठनों ने मिलकर यह फैसला किया कि आज से चाइनीज सामान का बहिष्कार करेंगे। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वो भी चाइनीज सामान को खरीदना बंद कर दें।

diwali mittyi ke diye china light दीवाली

: इस दिवाली से पहले शपथ ले :

हम अपने साथ गद्दारी नहीं करेंगे.
चाइनीज लाइट को नहीं खरीदेंगे. नहीं लगाएंगे.
हमारे घर में उजाला सिर्फ मिटटी के दियो से होंगा।
मिटटी का ही दिया खरीदेंगे और किसी गरीब परिवार के उजाला करेंगे.
हम ये बात खुद समजेंगे और दुसरो को भी समजाएंगे.
इस मेसेज को ज्यादा से ज्यादा लोगो पहुंचाएंगे.
इस लिंक ( https://goo.gl/St5Phk ) पे अपनी देशभक्ति को बताएँगे.
वन्दे मातरम, भारत माता की जय.

: कैसे हो रहा है सोशल मीडिया में चाइना समान का बहिस्कार :

चाइना भारत से कमाई करता है और उसका लाभ पाकिस्तान को पोषित करने पर खर्च कर रहा है।
चाइनीज सामान का बहिष्कार करने व देश विरोधी ताकतों को कमजोर करो, विदेशी भागाओं, स्वदेशी अपनाओ के नारे लगाए।

——————-

इस दीवाली अपने साथ-साथ दुसरो के घर भी रोशन करें दिये जलाये।।
जिससे आप किसी गरीब की मदत भी कर देंगे और चीन के सामानों का बहिष्कार कर देशभक्ति भी।।
जय हिन्द

——————

सोशल मीडिया पर नया जागरूक अभियान आया है भारत की पाकिस्तान से लड़ाई है पाकिस्तान को चीन सपोर्ट कर रहा है और हम चीन को सपोर्ट कर रहे है उसके बनाये हुए प्रोडक्ट खरीद कर इसलिए इस दिवाली कोई भी चीन का प्रोडक्ट ना खरीदे और भारत को सपोर्ट करे

—————–

अभी #चाइना ने #पाकिस्तान को सपोर्ट किया है और ब्रहमपुत्र की सहायक नदी का पानी रोक दिया है और सुनो,अभी 1 महीने में ही नवरात्री और दीवाली हैं, 3000 करोड़ की लाइट बेचती हैं चाइना कोई न खरीदे,

विनती करता हूँ हाथ जोड़कर..!
: विशेष सूचना :
आज कल चाइना के आइटम्स पर
Made in China लिखा नहीं आता है।अब लिखा आता है made in PRC मतलब People Republic of China
सभी को forward करे।

——————–

चाइना खुलकर देने लगा पाकिस्तानियो का साथ
जबकि उसका व्यापर भारत में फल फूल रहा . अब हम #भारतीयों को जागरूक होकर चीनी सामानों का पूर्ण रूप से परित्याग करना पड़ेगा . अतः इस अभियान में सभी #भारतीय बढ़ चढ़ कर भाग ले एवम् एक दूसरे को जागृत करे।


Also read : Mobile Me Downloading Speed Kaise Badhaye ?

भाइयों आज पूरा देश- विष्व हमारे  समर्थन मे खड़ा है, लेकिन वहीं  चाइना जो अपने देश के लोगो का पेट पालने के लिए अपना #प्रोडक्ट भारत मे भेजता हैं, आज वो पाकिस्तान के समर्थन मे खड़ा हो गया है, और हम भारतीय लोग सस्ते प्रोडक्ट के लालच मे चाइना के आर्थिक ढ़ाचा को मजबूती प्रदान करते हैं, अत:हम लोग को भी #MADE IN INDIA को बढ़ावा देना है और MADE IN CHINA का बहिष्कार करना है।।

Note : इस आर्टिकल को सभी सोशल वेबसाइट Whatsapp ,Facebook , Twitter  के जरिये हर हिंदुस्तानी तक पहुँचाने में हमारी मदद करे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *